पाकिस्तान : कराची में विस्फोट से जान-माल को भारी नुकसान, बैंक की इमारत क्षतिग्रस्त , 16 की मौत

 पाकिस्तान : कराची में विस्फोट से जान-माल को भारी नुकसान, बैंक की इमारत क्षतिग्रस्त , 16 की मौत

सिंध प्रांत के गृह विभाग के सचिव काजी शाहिद परवेज ने पुष्टि की कि विस्फोट में 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 अन्य घायल हो गए. मृतकों में सत्ताधारी दल पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के सदस्य आलमगीर खान के पिता भी थे.
पाकिस्तान ( Pakistan) की वित्तीय राजधानी कराची में सीवेज लाइन में गैस जमा होने से भीषण विस्फोट में शनिवार को कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 घायल हो गए. अखबार ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ के मुताबिक कराची के शेरशाह इलाके में बंद सीवर में गैस विस्फोट के कारण एचबीएल बैंक की इमारत क्षतिग्रस्त हो गयी. विस्फोट के हताहतों में ज्यादातर एचबीएल बैंक के ग्राहक और कर्मचारी हैं.

‘डॉन’ अखबार के मुताबिक सिंध प्रांत के गृह विभाग के सचिव काजी शाहिद परवेज ने पुष्टि की कि विस्फोट में 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 अन्य घायल हो गए. मृतकों में सत्ताधारी दल पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के सदस्य आलमगीर खान के पिता भी थे. थाना प्रभारी जफर अली शाह ने कहा कि विस्फोट एक निजी बैंक के नीचे स्थित एक नाले में हुआ. इमारत परिसर को खाली करने के लिए नोटिस दिया गया था, ताकि नाले को साफ किया जा सके. कराची के प्रशासक मुर्तजा वहाब ने कहा कि विस्फोट के कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है.

हालांकि, सुई सदर्न गैस कंपनी (एसएसजीसी) ने कहा है कि क्षेत्र में ‘‘एसएसजीसी की कोई गैस पाइपलाइन” नहीं है. बीडीएस की रिपोर्ट का खंडन करते हुए एसएसजीसी ने कहा, ‘‘यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि न तो आग की लपटें दिखाई दे रही थीं और न ही क्षेत्र में प्राकृतिक गैस की गंध आ रही थी. यह स्पष्ट संकेत है कि विस्फोट एसएसजीसी की किसी भी पाइपलाइन में नहीं हुआ.” पुलिस ने कहा कि बैंक की इमारत सीवेज और गैस की पाइपलाइन वाले हिस्से पर बनी थी, जिससे यह पता लगाना मुश्किल हो गया है कि विस्फोट सीवेज लाइन में गैस जमा होने के कारण हुआ या गैस पाइपलाइन के साथ कुछ हुआ था अथवा वहां विस्फोटक सामग्री रखी गई थी.

दक्षिण क्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) शरजील खराल ने कहा, ‘‘हमें नहीं पता कि यह गैस विस्फोट था या नहीं. हमारी पहली प्राथमिकता बचाव अभियान है और फिर हम विस्फोट के कारण का पता लगा सकते हैं.” विस्फोट के फुटेज में क्षतिग्रस्त वाहनों के साथ एक क्षतिग्रस्त इमारत और जमीन पर मलबा दिखा, वहीं बचावकर्मी घायलों को निकालने की कोशिश कर रहे थे. ‘जियो टीवी’ के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि क्षतिग्रस्त इमारत के मलबे के नीचे कई लोग दबे हें. मलबा हटाने के लिए मशीन भी घटनास्थल के लिए भेजी गई.

‘जियो टीवी’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि एक बम निरोधक इकाई (बीडीयू) भी उस स्थान पर पहुंची और घटनास्थल की घेराबंदी कर दी गई. ‘जियो टीवी’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि एक और विस्फोट बचाव और खोज अभियान के दौरान हुआ लेकिन किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने घटना की विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं. यह विस्फोट ऐसे वक्त हुआ है जब एक दिन बाद पाकिस्तान, अफगानिस्तान की स्थिति से निपटने के लिए इस्लामाबाद में इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) के विदेश मंत्रियों की 17वीं असाधारण बैठक की मेजबानी कर रहा है.

 

Related post

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.